दीपक में फूल बनने का क्या मतलब होता है? दीपक में फूल बनने पर क्या करें?

0
31706
दीपक में फूल बनने का क्या मतलब होता है?
दीपक में फूल बनने का क्या मतलब होता है?

दीपक में फूल बनने का मतलब : हिंदू धर्मशास्त्रों में पूजा के समय दीपक जलाने को जरूरी बताया गया है। बिना दीपक के आपकी पूजा को अधूरा माना जाता है। कई बार ऐसा होता है कि दीपक में फूल बन जाते हैं। पूजा के वक्त में दीपक में फूल बनने का मतलब कुछ खास होता है। दीपक में फूल बनना एक शुभ संकेत होता है।

दीपक में फूल बनने का मतलब

दीपक में फूल बनने का मतलब है कि आपकी पूजा आपके ईष्टदेव तक पहुंच रही है। इसका अर्थ होता है कि आपके ऊपर ईष्टदेव की कृपादृष्टि है। वे किसी ना किसी रूप में, प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप में आपके साथ हैं। आपके ईष्टदेव जिनको भी आप मानते हैं, आपके कार्यों में आपकी सहायता कर रहे हैं। उनकी कृपा से आपके सभी कार्य बनने लगेंगे।

कई बार ऐसा होता है कि दीपक में फूल तो बनता है लेकिन व्यक्ति के जीवन में परेशानियाँ बनी रहती है। इसका कारण यह होता है कि आप अपने ईष्टदेव को कहीं ना कहीं पूरी तरह से मानने से इंकार कर रहे हैं। आपको अपनी भक्ति के साथ-साथ अपने ईष्टदेव पर विश्वास भी रखना होगा। जब आप अपने ईष्टदेव पर विश्वास रखेंगे तो आपके सारे काम बनने लगेंगे। आपको अपने आप को ईश्वर को समर्पित करना चाहिए और जो कार्य हो रहे हैं, ये मानना चाहिए कि सब ईष्टदेव की कृपा से हो रहे हैं।

दीपक में फूल बनने का मतलब होता है कि आपकी जिनकी भी पूजा या भक्ति कर रहे हैं, उन तक आपकी पूजा और भक्ति पहुंच रही है। ईष्टदेव की कृपा आपके ऊपर हो रही है। भक्ति भाव से पूजा करने से भगवान तक आपकी बात पहुंचती है और आपकी सभी इच्छाएं पूर्ण होती है। आपके घर से कष्ट, दुख, क्लेश सब खत्म हो जाता है।

दीपक में फूल बनने पर क्या करें?

1. यदि आपके दीपक की लौ में भी फूल बनता है तो आपको अपने ईष्टदेव की पूजा में और ध्यान लगाना चाहिए।

2. आपको धर्म और पुण्य का काम ज्यादा करना चाहिए। यदि नहीं कर रहे हैं तो शुरू कर देना चाहिए।

3. हर रोज गाय को चारा, भोजन इत्यादि खिलाना चाहिए। कुत्तों और अन्य जानवरों को रोटी खिलानी चाहिए।

4. चींटियों को भोजन देना चाहिए। कबूतरों और पक्षियों को दाना डालना चाहिए। इसके आपको सकारात्मक फल मिलेंगे और जीवन की परेशानियाँ दूर होगी।