सपने में भगवान विष्णु देखना: ऐसे सपने देखने से होता है जीवन में भाग्योदय

0
814
सपने में भगवान विष्णु को देखना
सपने में भगवान विष्णु को देखने का मतलब

सपने में भगवान विष्णु देखना: हिंदू धर्म में सृष्टि का संचालन तीन देवों द्वारा बताया गया है, ब्रह्मा, विष्णु और महेश। इन्हीं त्रिदेवों की शक्तियाँ इस सृष्टि के विकास, पालन पोषण और विनाश के लिए उत्तरदायी है। कहा जाता है कि जब-जब पृथ्वी पर राक्षसी शक्तियाँ बढ़ती है, तब-तब धरती पर भगवान विष्णु का अवतार होता है।

सपने में हम कई देवी-देवताओं को देखते हैं। देवता का सपनों में आना ज्यादातर मामलों में शुभ ही माना जाता है। लेकिन क्रोधित अवस्था में देवता को सपनों में देखना अशुभ तो नहीं लेकिन जीवन में किसी अनिष्ट का संकेत जरूर होता है। स्वप्न में भगवान उन लोगों को ज्यादा आते हैं जिनके अंदर ईश्वर के प्रति गहरी आस्था हो या जीवन में कभी वो ईश्वर के काफी करीब रहा हो।

सपने में भगवान विष्णु को देखना

सपने में यदि भगवान विष्णु (Sapne me Vishnu Bhagvan) आपको दिखाई देते हैं तो यह बहुत ही शुभ सपना माना जाता है। यह स्वप्न व्यक्ति को जीवन में कार्यों में सफलता, सुख-समृद्धि दिलवाता है। स्वप्न में भगवान विष्णु को देखने का  मतलब हर क्षेत्र में सफलता प्राप्त करना, ऐसा माना जाता है।

भगवान विष्णु का सपनों में आना (Sapne me Vishnu Bhagvan) भाग्योदय का सूचक भी माना जाता है। यह इस बात का संकेत होता है कि अब आपके जीवन से सभी दुख और कष्ट समाप्त हो जाएंगे और आपके जीवन में सुख आएगी और धनलाभ होगा। आपको हर कार्य में सफलता मिलेगी। सभी रूके कार्य पूरे होंगे।

यदि कोई व्यक्ति जीवन में निराश हो और उसे सपने में भगवान विष्णु की फोटो या तस्वीर दिखता है तो यह शुभ संकेत होता है। इस तरह के स्वप्न का संकेत होता है कि व्यक्ति के जीवन से निराशा दूर होने वाली है और उसे हर सुख जीवन में मिलने वाला है। भगवान विष्णु को स्वप्न में देखने (Sapne me Vishnu Bhagvan) से जीवन के हर क्षेत्र में सफलता और आनंद की प्राप्ति होती है।