दीपक कैसे जलाएं – दीपक जलाते समय न करें ऐसी गलतियां, होता है अशुभ

0
443
दीपक कैसे जलाएं
दीपक कैसे जलाएं

कई लोगों के मन में सवाल होता है कि दीपक कैसे जलाएं ताकि घर में सुख-शांति बनी रहे। हिंदू धर्म में देवी-देवाताओं की पूजा के समय दीपक जलाने का और उनकी आरती करने को महत्वपूर्ण बताया गया है। आरती करने के लिए दीपक का प्रयोग किया जाता है। बिना आरती किए ईश्वर की आराधना अधूरी मानी जाती है। रोज घर में दीपक जलाने से घर की नकारात्मक ऊर्जा भी खत्म हो जाती है।

दीपक जलाते समय कुछ सावधानियाँ भी बरतनी चाहिए, ऐसा विद्वान लोग कहते हैं। दीपक जलाते समय यदि कुछ चीजों का ध्यान रखा जाए तो घर में हमेशा सुख-शांति और समृद्धि बनी रहती है। इससे घर में हमेशा बरकत रहती है और देवी-देवताओं का आशीर्वाद भी प्राप्त होता है। आइए जानते हैं कि दीपक कैसे जलाएं और दीपक जलाते समय कौन सी गलतियाँ नहीं करनी चाहिए।

दीपक कैसे जलाएं और दीपक जलाते समय क्या सावधानियाँ रखें?

1. धार्मिक कार्यों में कभी भी खंडित या टूटा हुआ दीपक का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। पूजा करते समय हमेशा साफ और सही दीपक का ही इस्तेमाल करना चाहिए। किसी भी प्रकार के धार्मिक कार्यों में खंडित दीपक को अशुभ माना जाता है। इससे हमारे ईष्ट हमसे नाराज हो सकते हैं।

2. अगर घी का दीपक जला रहे हैं तो हमेशा सफेद रूई का ही प्रयोग करें। तेल का दीपक जला रहे हैं तो लाल धागे की बत्ती शुभ होती है। इस तरह से दीपक जलाने से ईश्वर का आशीर्वाद प्राप्त होता है और हमारे ईष्ट हमेशा घर में बरकत बनाए रखते हैं।

3. वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर में रोज सुबह और शाम को दीपक जलाने से घर की सभी नकारात्मक ऊर्जा खत्म हो जाती है और घर में सकारात्मक ऊर्जा बनी रहती है। इससे घर में सुख-शांति और समृद्धि बनी रहती है।

4. घर में जब भी दीपक जलाएं तो शाम के समय एक दीपक मुख्य दरवाजे पर जरूर जलाना चाहिए। इससे माता लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं। दीपक को कभी भी जमीन पर ना रखें। दीपक को चावल पर या किसी अन्य वस्तु पर ही रखें।

5. पीने के पानी के बर्तन के पास घी का दीपक जलाकर रखने से घर में धन की वृद्धि के साथ स्वास्थ्य संबंधी समस्या भी दूर होती है। ध्यान रहे कि कभी भी एक दीपक से दूसरे दीपक को नहीं जलाना चाहिए।

6. घी का दीपक हमेशा ईश्वर के दाहिने हाथ के तरफ रखना चाहिए। तेल का दीपक भगवान के बाएं हाथ की तरफ रखना चाहिए। यदि पूजा करते समय दीपक बुझ जाता है तो ईश्वर से इसके क्षमा मांगनी चाहिए।