सोना चोरी होना, खोना या मिलना सब अशुभ होता है, सोना खोने पर क्या उपाय करें

0
20754
सोना चोरी होना, खोना या मिलना सब अशुभ होता है
सोना चोरी होना, खोना या मिलना सब अशुभ होता है

भारतीय परंपरा में सोना एक पवित्र और पूजनीय धातु माना गया है। हिंदू मान्यताओं में जीवन में सोना बहुत महत्व रखता है। त्योहारों के साथ-साथ विवाह और अन्य शुभ कार्यों में सोना का बहुत अधिक महत्व होता है। सोना चोरी होना, सोना खोना या सोना का मिलना यह सभी अशुभ होते हैं। सोना चोरी होना शुभ नहीं होता है।

सोना को देवी लक्ष्मी से संबंधित माना गया है। इसलिए सोना खरीदते समय शुभ मुहूर्त का विशेष ध्यान रखा जाता है। ऐसी मान्यता है कि यदि सोना को शुभ मुहूर्त में खरीदा जाए तो यह घर में स्थाई रूप से रहता है और फलता भी है।

सोना खोना या चोरी होना

ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक, सोना का रंग पीला होता है। सोना को देवगुरु बृहस्पति ग्रह से संबंधित माना जाता है। बृहस्पति ग्रह, धन, संपत्ति, पति और विवाहित जीवन का प्रतिनिधित्व करता है। इसलिए सोना का खोना या चोरी होना अशुभ माना जाता है।

ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक, सोना का गुम होना या चोरी होना अच्छा नहीं होता है। बृहस्पति को परिवार का कारक माना गया है। इसलिए सोने से बने गहनों का गुम होना अच्छा नहीं माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि यह देवगुरु बृहस्पति की नाराजगी की वजह है। ऐसी स्थिति में परिवार में कलह और दांपत्य जीवन में परेशानियां आती हैं।

रास्ते में सोना मिलना

वहीं सोना का मिलना भी शुभ नहीं होता है। यदि रास्ते में सोना मिल जाता है तो उसे घर पर ना लाएं। सोना मिलना और उसे घर पर रखना दोनों ही अशुभ होता है। ऐसा करने से बृहस्पति ग्रह का अशुभ प्रभाव शुरू हो जाता है और जीवन में समस्याएं आने लगती है।

यदि आपको सोना मिलता है तो आप उसे बेचकर मिले पैसों से दान-पुण्य करें। ऐसा करने से बृहस्पति का प्रकोप कम होता है और जीवन में सुख-समृद्धि आती है और व्यक्ति का नाम होता है।