सपने में स्वास्तिक चिन्ह (Swastika symbol in Dream) देखने का क्या अर्थ होता है?

0
1635
सपने में स्वास्तिक चिन्ह देखने का मतलब
सपने में स्वास्तिक चिन्ह देखने का मतलब

सपना देखना और उसका फल मिलना दोनों ही भविष्य और समय पर निर्भर करता है। ऐसा कहा जाता है कि सुबह के समय देखा गया शुभ होता है और ऐसे सपनों का फल भी जल्दी ही मिलता है। सपने में स्वास्तिक का चिन्ह देखने का भी कुछ खास मतलब होता है।

वैसे तो सपने में हम कई चीजें देखते हैं। सपने में उल्लू देखना, सपनें में सांप देखना, सपने में भगवान को देखना, सपने में देवी दुर्गा को देखना और ना जानें कितने ही सपने हैं जो हम देखते हैं। सभी सपनों का अपना मतलब होता है और सबका फल भी अलग-अलग होता है।

सपने में स्वास्तिक का निशान देखने का मतलब

हिंदू धर्म में स्वास्तिक के निशान को अत्यंत ही शुभ माना गया है। सनातन धर्म का पालन करने वालों के घरों की दीवारों पर स्वास्तिक का निशान देखा जा सकता है। लोग अपने में घरों में तुलसी के पौधे के गमले पर भी स्वास्तिक का निशान बनाते हैं। इसे बहुत ही शुभ माना जाता है।

सपने में स्वास्तिक का चिन्ह देखना बेहद ही शुभ माना जाता है। अगर किसी व्यक्ति को सपने में स्वास्तिक का चिन्ह या निशान दिखता है तो इसका मतलब होता है कि उस व्यक्ति के जीवन में जल्द ही कोई महत्वपूर्ण कार्य होने वाला है। स्वप्न शास्त्र के मुताबिक, सपने में स्वास्तिक चिन्ह देखने का अर्थ है कि आपके मान-सम्मान में वृद्धि होने वाली है और आपके जीवन में से आर्थिक संकट भी दूर होगा।

इसी प्रकार सपने में संतरे का पौधा देखना भी शुभ माना जाता है। अगर कोई व्यक्ति सपने में संतरा का पौधा देखता है तो इसका अर्थ होता है कि उसकी आर्थिक समस्या का समाधान जल्द ही होने वाला है। ऐसे सपने में बेहद की प्रभावशाली माने जाते हैं। स्वप्न शास्त्र के मुताबिक, जब किसी व्यक्ति को कहीं से अचानक धन की प्राप्ति होने वाली होती है तब सपने में संतरे का पौधा दिखाई देता है।