घर के मंदिर में कितने दीपक जलाने चाहिए? दीपक क्यों जलाएँ?

घर के मंदिर में कितने दीपक जलाने चाहिए? किन किन देवताओं के पास कितने दीपक जलाने चाहिए? दीपक जलाकर हम अपने जीवन में कई समस्याओं से मुक्ति पा सकते हैं।

0
550
मंदिर में दीपक कितना जलाना चाहिए?
घर के मंदिर में कितने दीपक जलाने चाहिए?

हिंदू धर्म शास्त्रों के अनुसार कोई भी पूजा पद्धति बिना दीपक के पूर्ण नहीं माना जाता है। ऐसे में सवाल उठता है कि घर के मंदिर में कितने दीपक जलाने चाहिए? किन किन देवताओं के पास कितने दीपक जलाने चाहिए? दीपक जलाकर हम अपने जीवन में कई समस्याओं से मुक्ति पा सकते हैं। घर के मंदिर में दीपक जलाने से घर में सकारात्मकता का वातावरण होता है।

घर में दीपक सूत की बाती या रूई की बाती लेकर जलाते हैं। पहले के समय में लोग मिट्टी के दीपक घर में जलाते थे। आधुनिक समय में दीपक मिट्टी के साथ-साथ धातुओं के बने दीपक भी चलन में है। भारत में दीपक का इतिहास 5000 वर्षों से भी पुराना है। वेदों में अग्नि को देवता के समान कहा गया है। यही वजह है कि आज किसी भी शुभ कार्य के लिए दीपक जलाना शुभ माना जाता है।

गुरुवार को इस तरह करें भगवान विष्णु की आरती, सभी मनोकामनाएं होंगी पूर्ण
दीपक जलाने के नियम होते हैं खास, दीपक जलाने से होता है परेशानियों का नाश
दीपक की लौ तेज होने का क्या मतलब है? ईश्वर का यह कैसा संकेत होता है

  1. घर के मंदिर में पंचमुखी दीपक जलाना चाहिए। घर के मंदिर में पंचमुखी दीपक जलाने से कोट-कचहरी, मुकदमा आदि से छुटकारा मिल जाता है। इसके साथ-साथ कानूनी मामलों में भी व्यक्ति की जीत होती है।
  2. राहु और केतु को प्रसन्न करने के लिए अलसी के तेल का दीपक जलाना चाहिए। यदि किसी व्यक्ति के जीवन में राहु-केतु का प्रभाव अधिक है और यह प्रभाव नकारात्मक फल दे रहा है, तो अलसी के तेल का दीपक जलाने से राहु और केतु प्रसन्न होते हैं।
  3. भगवान शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए सरसों के तेल का दीपक जलाना चाहिए। सरसों का तेल शनिदेव को अति प्रिय है। सरसों तेल का दीपक जलाने से शनिदेव प्रसन्न होते हैं और व्यक्ति के जीवन में संघर्षों का दौर कम होता है।
  4. हनुमान जी को प्रसन्न करने के लिए 8 बत्तियों वाला दीपक जलाना चाहिए। इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि हनुमान जी के पास तिल के तेल का दीपक जलाना चाहिए। लाल बाती वाला चमेली के तेल का दीपक हनुमान जी के सामने जलाने से है किसी भी प्रकार के अनजाने भय से मुक्ति मिलती है।
  5. भोलेनाथ की कृपा प्राप्त करने के लिए सरसों के तेल का 8 या 12 मुखी दीपक जलाना चाहिए। शिवलिंग के पास तिल के तेल का 3 दीपक जलाने से सभी प्रकार के कष्टों से मुक्ति मिलती है।
  6. मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए घर के मंदिर में सात मुखी दीपक जलाना चाहिए। महादेवी लक्ष्मी धन संपदा की देवी हैं। मां लक्ष्मी के प्रसन्न होने से व्यक्ति के जीवन में कभी भी धन की कमी नहीं होती।
  7. घर के मंदिर में संयुक्त रूप से लक्ष्मी नारायण के सामने मौली की बाती वाला घी का दीपक हल्दी और सिंदूर डालकर जलाना चाहिए। नियमित रूप से ऐसा करने से जीवन में तरक्की और सफलता प्राप्त होती है।
  8. मां सरस्वती के सामने दिया घी का या तिल का जलाना चाहिए। दो बत्ती वाला दीपक मां सरस्वती के सामने जलाने से विद्या और बुद्धि की प्राप्ति होती है। समाज में व्यक्ति की यश और प्रतिष्ठा बढ़ती है।
  9. गणेश जी को प्रसन्न करने के लिए ही का दीपक जलाना चाहिए। तीन बत्ती वाला गणेश जी के सामने जलाने से विद्या बुद्धि के साथ-साथ धन और वैभव प्राप्त होता है।

सुबह-सुबह हाथ से पैसा गिरना होता है शुभ, मां लक्ष्मी देती हैं ऐसा संकेत
सरसों तेल का दीपक जलाने के फायदे होते हैं अदभुत
सपने में मां दुर्गा या माता का कोई भी रूप देखें तो इसका यह संकेत होता है

इसके अलावा शास्त्रों में इस बात का भी जिक्र है कि भगवान विष्णु को प्रसन्न करने के लिए प्रतिदिन 16 बत्तियों वाला दीपक जलाना चाहिए। यदि कोई व्यक्ति भगवान विष्णु के दशावतार की पूजा करते हैं तो उनके सामने 10 मुख वाला दीपक जलाना चाहिए।

अस्वीकरण – यह जानकारी धार्मिक मान्यताओं पर आधारित है। इस विषय में विस्तृत जानकारी के लिए अपने नजदीकी पुरोहित से संपर्क करें और उसी अनुसार कर्मकांड करें।