भोजन करने की शुभ दिशा धन लाभ के साथ अकाल मृत्यु का भय करे दूर

घर के पूर्व दिशा की ओर मुख करके भोजन करने से कुंडली में अकाल मृत्यु का भय दूर होता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार यदि कुंडली में मारक ग्रह हो तो ऐसे लोगों को हमेशा पूर्व दिशा की ओर मुख करके भोजन करना चाहिए।

0
208
भोजन करने की दिशा
भोजन करने की शुभ दिशा कौन सी होती है?

वास्तु टिप्स इन हिंदी – रसोई घर में खाना बनाते समय यदि स्त्री का मुख गलत दिशा में हो तो इसके कई नकारात्मक परिणाम भुगतने पड़ते हैं। जीवन में कई प्रकार की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इसी प्रकार भोजन करने की दिशा भी होती है। सही दिशा में मुख करके भोजन करने से जीवन में तरक्की के मार्ग खोलते हैं और स्वास्थ्य हमेशा ठीक रहता है। इसलिए शुभ दिशा में भोजन करना अति महत्वपूर्ण होता है।

वास्तु शास्त्र के मुताबिक, सही दिशा में भोजन करने से जीवन में मान सम्मान, सफलता और धन लाभ के योग बनते हैं। वास्तुशास्त्र में खाने को लेकर कई प्रकार के नियम बताए गए हैं। कहा जाता है कि इन नियमों का पालन करने से व्यक्ति के जीवन से बीमारियां कोसों दूर होती है। इसके साथ-साथ अकाल मृत्यु का भय भी कम होता है तथा आयु में वृद्धि होती है। आइए जानते हैं कि भोजन करने की शुभ दिशा कौन सी होती है?

उत्तर दिशा में भोजन करने के लाभ

वास्तु शास्त्र के मुताबिक, घर के उत्तर दिशा में मुख करके भोजन करने से सुख समृद्धि और धन संपदा में वृद्धि होती है। शास्त्रों के अनुसार, यदि कोई व्यक्ति पैसों की तंगी से गुजर रहा है या उसके जीवन में पैसों से संबंधित परेशानियां हैं तो उन्हें उत्तर की तरफ मुख करके हमेशा भोजन करना चाहिए। इस दिशा में मुख करके भोजन करने से जीवन की इन परेशानियों का खात्मा हो जाता है।

दक्षिण दिशा की ओर भोजन करना

घर में दक्षिण दिशा की ओर मुख करके भोजन करने से परेशानियों का सामना करना पड़ता है। शास्त्रों में दक्षिण दिशा की तरफ मुंह करके भोजन करना मना किया गया है। हालांकि शास्त्रों में यह भी मान्यता है कि जिन व्यक्ति के ऊपर भूत प्रेत या फिर नकारात्मक ऊर्जा जल्दी हावी हो जाती है, उन लोगों को दक्षिण दिशा में मुख करके भोजन करना चाहिए। ऐसा करने से उन्हें लाभ होता है। यह भी पढ़ें- ऐसे 5 खास लोगों के दीपक में फूल बनता है, ईश्वर देते हैं खास संकेत

पश्चिम दिशा की ओर भोजन करना

यदि किसी व्यक्ति का स्वास्थ्य हमेशा खराब रहता है या फिर उनके परिवार में किसी का स्वास्थ्य हमेशा खराब रहता है तो उन्हें पश्चिम दिशा में मुख करके भोजन करना चाहिए। ऐसा करने से उन्हें लाभ प्राप्त होता है। यह भी पढ़ें- दीपक की लौ तेज होने का क्या मतलब है? ईश्वर का यह कैसा संकेत होता है

पूर्व दिशा की ओर भोजन करना

घर के पूर्व दिशा की ओर मुख करके भोजन करने से कुंडली में अकाल मृत्यु का भय दूर होता है। पूर्व की ओर मुख करके भोजन करने के कई लाभ होते हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार यदि कुंडली में मारक ग्रह हो तो ऐसे लोगों को हमेशा पूर्व दिशा की ओर मुख करके भोजन करना चाहिए। ऐसा करने से अकाल मृत्यु का भय खत्म होता है और व्यक्ति की सेहत हमेशा अच्छी होती है। यह भी पढ़ें- दीपक जलाने के नियम होते हैं खास, दीपक जलाने से होता है परेशानियों का नाश

अस्वीकरण – यह जानकारी धार्मिक मान्यताओं पर आधारित है। इस जानकारी की विश्वसनीयता पर इंडिया हंट दावा नहीं करता। इस विषय में विस्तृत जानकारी के लिए हमेशा विशेषज्ञों से संपर्क करें। हमारा उद्देश्य सिर्फ पाठकों को जानकारी उपलब्ध करवाना है।